WTC Final IND vs AUS: भारतीय क्रिकेट टीम में अचानक 3 महीने बाद हुई इस धुआँधार प्लेयर की एंट्री, ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए घातक हो सकता है यह खिलाडी!

WTC Final India vs Australia
Image Souce: BCCI
Advertisements

WTC Final IND vs AUS: वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (IND vs AUS) के बिच खेला जाना है जो की इंग्लैंड के ओवल क्रिकेट ग्राउंड में आज से 4 ठीक दिन के बाद खेला जाना है. दोनों ही टीमों ने इंग्लैंड पोहोचकर WTC फाइनल के लिए तैयारी शुरू कर दी है. इस दौरान ऐसा सुनने में आया है की इंडियन टीम मैनेजमेंट ने आखिर तीन महीनो के लम्बे अंतराल के बाद एक ऐसे मैच विनर को भारतीय टीम में शामिल कर दिया है, जिससे पूरी ऑस्ट्रेलियाई खेमे में खौफ में हैं.

यह खिलाड़ी हर कंगारू प्लेयर पर पड़ा भारी है
इंटरनेशनल क्रिकेट की बात करे तो यह फॉर्मेट में रविचंद्रन अश्विन इसके पहले जो बार्डर-गावस्कर ट्राॅफी खेली गई थी उसमें खेलते हुए दिखाई दिए थे. उस सीरीज में अश्विन और जडेजा साथ प्लेयर ऑफ द सीरीज भी चुने गए थे. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रविचंद्रन अश्विन का खतरनाक दबदबा जारी, ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के लिए खतरा होंगे अश्विन

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अश्विन का प्रदर्शन कुछ ऐसा है
कुछ ही समय में पहले खेले गए भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में अश्विन ने सबसे ज्यादा विकेट लेने के रिकॉर्ड में अनिल कुंबले अब पीछे छोड़ दिया है और यह रिकॉर्ड अपने नाम है.

बात करे अगर रिकॉर्ड की तो अनिल कुंबले ने 20 मैच में 111 विकेट प्राप्त किये थे. वहीं, रविचंद्रन अश्विन 22 मैच खेलकर में 113 विकेट लेकर यह रिकॉर्ड तोडा है. इस रिकॉर्ड लिस्ट के अंदर अश्विन और कुंबले के बाद तीसरे खिलाडी में हरभजन सिंह का नाम शामिल है, जिनके नाम 95 विकेट हैं.

स्टीव स्मिथ पहले ही चिंता जता चुके हैं
ऑस्ट्रेलियाई खेमे में पहले से ही रविचंद्रन अश्विन के नामसे डर मन में बैठा हुआ है.

स्टीव स्मिथ ने अपने स्टेटमेंट में कहा है कि, अगर बल्लेबाजी के लिहाज से देखे तो ओवल में उछाल और रफ्तार अच्छी देखने को मिलती है. यहां की आउटफील्ड काफी तेज है. यह बल्लेबाज़ एक बार अपनी आँखे जमाकर टिक जायेगा तो उसके लिए रन बनाना काफी आसान होता जायेगा।

‘जैसे-जैसे खेल आगे बढ़ता जायेगा वैसे ओवल में स्पिन गेंदबाजों को इस पिच से बोहोत मदद मिल सकती है. इसी कारन मुझे ऐसा लगता है कि ऑस्ट्रेलिया को ओवल पिच में भी वैसी ही कंडीशन का सामना करना पड़ सकता है, जैसा उन्होंने पिछली बार भारत में खेली गई बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी सीरीज में करना पड़ा था.’

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.