Backlink क्या है? Quality backlinks कैसे बनाये?

Advertisements

यदि आप Blogging या SEO की फिल्ड में है तो आप बोहोत ही अच्छे से जानते होंगे कि आखिर Backlink क्या होता है और बैकलिंक के फायदे क्या है। लेकिन यदि आप नए Blogger है तो आपको भी यह प्रश्न होता होगा कि आखिर यह Backlink क्या है और केसे किया जाता है? Do Follow backlink और No Follow backlink में क्या अंतर है तो चलिए आज उसके बामारें जानकारी हासिल करते है।

Backlink क्या है Quality backlinks कैसे बनाये?

हमारे ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल में रेंक करवाना है या वेबसाइट की ऑटोरिटी को बढ़ाना है तो उसके लिए बैकलिंक एक एहम रोल निभाता है यदि आप भी चाहते है की आपकी वेबसाइट की Domain Authority ज्यादा हो तो आपको इसपर ज्यादा काम करना होगा तो चाहिले बैकलिंक के बारेमे ज्यादा जानते है.

Backlink क्या है?

 जब भी आप कोई हाई अथॉरिटी वेबसाइट पर अन्य वेबसाइट की लिंक मिलती है और जैसेही आप उस लिंक पर क्लिक करेंगे तो आप दूसरे की वेबसाइट या ब्लॉग पर रिडाइरेक्ट हो जायेंगे इस लिंक को हम बैकलिंक के नामसे जानते है. 

Backlinks के फायदे क्या है?

बैकलिंक बनाने से आपकी वेबसाइट की रेंकिग बढ़ जाएगी और आपकी वेबसाइट सर्च रिसल्ट में दिखने लगेगी

बैकलिंक की मदद से आपकी वेबसाइट की Domain Authority बढ़ती है 

अपने केटेगरी के वेबसाइट से बैकलिंक लेने के कारन उस वेबसाइट का ट्रैफिक हमारी वेबसाइट पर आता है और हमारी वेबसाइट का ट्राफीक बढ़ता है.

अगर गूगल का क्रॉलर उस वेबसाइट के पेज को क्रॉल कर रहा है जहा हमारी वेबसाइट का लिंक मौजूद है तो क्रॉलर उस लिंक की मदद से हमारी वेबसाइट को भी क्रॉल करेगा और इससे क्रॉलर के यह पता चलेगा की वो वेबसाइट हमारी वेबसाइट को इस लिंक के जरिये refer कर रही है. 

Backlinks बनाना ब्लॉग के लिए जरुरी है?

गूगल ने बोहोत बार यह कहा है की वे बैकलिंक पर फोकस नहीं करते लेकिन अन्य डिजिटल मार्टकेटिंग एक्सपर्ट्स का कहना है की आज भी बैकलिंक काम करता है. अब नए ब्लॉगर के लिए यह दुविधा है की आखिर क्या सही है और क्या गलत क्या मानना चाहिए और क्या नहीं तो चलिए उसके बारेमे ज्यादा जानकारी लेते है. 

अगर बात करे बैकलिंक के बारेमे तो आजभी आपको बैकलिंक कुछ हद तक मदद कर सकता है और कुछ ऐसे केस है जिसमे बैकलिंक नहीं मदद करेगा।

अगर आपकी वेबसाइट पर Google या अन्य सर्च इंजिन का Trust बढे तो उसके लिए आपको आपकी वेबसाइट पर Backlink बनाना जरुरी है और वो भी आपके निच से जुडी वेबसाइट जिसकी Domain Authority आपकी वेबसाइट से ज्यादा हो 

High Authority वेबसाइट से मिला 1 Quality backlinks अन्य 100 बैकलिंक के बराबर होता है. इसीलिए जब भी आप बैकलिंक बनाये तो अच्छी हाई अथॉरिटी वेबसाइट से ही बनाये

Link Juice क्या है? (What is link juice in Backlink SEO)

जब किसी वेबपेज पर आपकी ब्लॉग के कोई आर्टिकल का लिंक जुड़ा होता है तो वहा से आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक आता है और इससे आपकी वेबसाइट की Domain Authority भी बढ़ती है.

Do-Follow और No-Follow Backlink क्या है?

जब भी कोई एक वेबसाइट के द्वारा दूसरी वेबसाइट को बैकलिंक दिया जाता है तो उस वेबसाइट का जो भी ट्रैफिक है, वेल्यू है या अथॉरिटी है वो दूसरी वेबसाइट पर ट्रांसफर होता है ऐसेमे अगर कोई ऐसी वेबसाइट होगी जिसकी अथॉरिटी आपकी वेबसाइट से बोहोत ज्यादा है तो उस वेबसाइट से बैकलिंक लेना आपके लिए तो फायदेमंद साबित हुआ लेकिन उस वेबसाइट के लिए यह नुकशानकारक होगा।

लिंक जूस तभी ट्रांसफर होगा जब क्रॉलर आपकी वेबसाइट पर आएगा और इसीलिए हर वेबसाइट ओनर के पास यह ऑप्शन होता है जहा वो तय कर सकता है की कोनसी वेबसाइट को Do-Follow Backlink दे या No-Follow देनी चाहिए। 

Do-Follow Backlinks

जब भी क्रॉलर आपकी वेबसाइट पर क्रोल करता है और अपने किसी वेबसाइट के लिंक को Do-Follow दिया है या फिर अपने कुछ भी नहीं किया है तो क्रॉलर उस वेबसाइट को भी क्रॉल कर सकता है. 

इस डोमेन को हम रेफर करते है हो इस वेबसाइट को क्रोल करने के लिए अनुमति देते है और जब भी कोई आप वेबसाइट किसी की वेबसाइट को टैग के साथ लिंक नहीं करेंगे तब भी उसे Do-Follow Backlink ही माना जायेगा 

No-Follow Backlinks

जब भी मेरी वेबसाइट की क्रॉलिंग हो तो उस समय जिस भी लिंक को मेने No-Follow का टैग दिया है तो इसका मतलब है की उस वेबसाइट को गूगल को Follow नहीं करना है और उस वेबसाइट की जो भी जानकारी है उसकी जिम्मेदारी हमारी नहीं है.

Example of No-Follow Backlinks Tag: <A href=” rel=” NOFOLLOW”>Anchor Text</A>

High Backlink Kaise Banaye

अगर हम हमारी किसी वेबसाइट के लिए High Quality backlinks बनाने के लिए आपको सबसे पहले यह बात ध्यान में रखनी है की हम उसी वेबसाइट या वेबपेज से relevant हो वैसी वेबसाइट से ही बैकलिंक बनाएंगे।

यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग स्पोर्टस केटेगरी से जुड़ा है तो आप उसी केटेगरी की वेबसाइट या पेज से बैकलिंक बनाये और ध्यान में रखे की उस वेबसाइट का डोमेन अथॉरिटी आपकी वेबसाइट से ज्यादा या आपकी वेबसाइट के जितनी होनी चाहिए

यदि हो सके तो आप Do-Follow Backlinks के लिए आप प्रयास करे फिरभी अगर आपको बड़ी वेबसाइट से No-Follow Backlink मिलेगा तो वो भी फायदेकरक होगा। जैसेकि आप विकिपीडिया से बैकलिंक बनाये तो यह आपको No-Follow Backlink मिलेगा लेकिन फिरभी आपकी वेबसाइट के लिए अच्छा है.

Top 10 Ways to Create Backlink

1. Social Bookmarking

2. Blog Submission

3. Image Submission

4. Guest Posting – Using Footprints

5. Directory Submission

6. Classified Submission

7. Profile Submission

8. Article Submission

9. Web 2.0 Submission

10. Forum Submission

Conclusion:

वेबसाइट पर बैकलिंक के जरिये ट्रैफिक लाना आसान है लेकिन आपको ध्यान रखना है की आप कोई ऐसी वेबसाइट पर बैकलिंक न बनाये जो गूगल के algorithm के खिलाफ काम करती हो.

बैकलिंक बनाते समय सामने वाली वेबसाइट का ट्रैफिक उसका कंटेंट और केटेगरी जरूर चेक करे और साथ ही उसका DA और PA भी चेक करे.

आशा है की आपको दी गई सभी जानकारी अच्छी लगी होगी और अपने कुछ नया सीखा होगा ऐसा ही ब्लॉग्गिंग से जुड़ा कंटेंट चाहिए तो हमे सोशल मीडिया और अन्य प्लेटफॉर्म पर फॉलो करे.

Also Read:

Technical SEO क्या है इसे कैसे करे?

Permalink क्या है? SEO Friendly Permalink कैसे बनाये?

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.