Technical SEO क्या है इसे कैसे करे?

Advertisements

किसी भी वेबसाइट का SEO करते समय हम बोहोत से फेक्टर्स को ध्यान में रखते है और जिसकी हम सभी जानते है की on page SEO कितना जरुरी है. कई लोग यह मानते है की Technical SEO एक अलग चीज़ है लेकिन आपको बता दे की Technical SEO भी on page SEO का ही एक भाग है.

Technical SEO kya hai?

अगर आप नहीं जानते की आखिर Technical SEO क्या है और इससे कैसे किया जाता है तो इस आर्टिकल में आपको पूरी जानकारी मिलेगी जिसकी मदद से आप अपनी वेबसाइट का SEO अच्छे से कर पाएंगे।

अगर आप डिजिटल मार्केटिंग या SEO के बारेमे पढ़ते होंगे या प्रेक्टिस करते होंगे तो आपको यह बात जरूर सुनने को मिलती होगी की SEO के 3 पार्ट है. On-page, Off-page और Technical SEO. लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे की SEO के केवल 2 ही पार्ट है on-page और off-page SEO. यहाँ Technical SEO है वो भी On-page का ही हिस्सा है.

On-page SEO और Technical SEO क्या है?

हमारी वेबसाइट के पेज पर हम जो भी SEO करते है उसे हम On-page SEO के नामसे जानते है और On-page SEO के अंदर ही टेक्निकल चीज़े होती है जैसेकि SSL सर्टिफिकेट लगाना, वेबसाइट को गूगल सर्च कंसोल में इंडेक्स करवाना यह सभी चीज़े थोड़ी टेक्निकल होती है और इसीलिए इसे Technical SEO कहते है.

यदि आप अपनी किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक लाना चाहते है तो उसपर आपको Search Engine Optimization करना बोहोत जरुरी है और जिसकी हम सभी जानते है की SEO के सभी फेक्टर्स को हम कण्ट्रोल नहीं कर सकते लेकिन On Page SEO के ज्यादातर फेक्टर्स को हम कण्ट्रोल कर सकते है. उसके लिए हम पहले Technical SEO के बारेमे जानेंगे।

वेबसाइट को रेंक करवाने और ऑर्गेनिक ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए आपको आपकी वेबसाइट पर कुछ ऐसे Techniques का इस्तेमाल करेंगे जो आपकी वेबसाइट के रैंकिंग के लिए बोहोत जरुरी है.

Technical SEO Technique(Checklist)

Sitemap.XML

वेबसाइट का sitemap एक ऐसी फाइल है जिसके द्वारा हम क्रॉलर को जानकारी देते है की आखिर हमारी वेबसाइट पर क्या है और कहा है ताकि उसे हमारी वेबसाइट को क्रॉल करने में को तकलीफ ना हो और उसके द्वारा हमारा कोई पेज या आर्टिकल क्रॉल होने में बाकि न रह जाये।

अगर आपकी वेबसाइट पर sitemap होगा तो crawler को आपकी वेबसाइट crawl करने में आसानी रहेगी अगर आप यह सोच रहे है की यदि अपने sitepmap नहीं बनाया तो आपकी वेबसाइट क्रॉल नहीं होगी तो ऐसा नहीं है गूगल फिरभी आपकी वेबसाइट को क्रॉल करेगा लेकिन उसमे ज्यादा समय लगता है.

यदि आप sitemap का इस्तेमाल करते है तो यह crawler के लिए थोड़ा काम आसान कर देगा और इंडेक्सिंग और रैंकिंग में आपको आसानी रहेगी। sitemap बनाकर वेबसाइट पर रखना यह Technical SEO का सबसे पहला और महत्वपूर्ण कार्य है.

Sitemap.HTML

वेबसाइट में इस्तेमाल किये जानेवाले sitemap 2 तरह के होते है जिसमे पहला .xml फाइल जो की Crawler के लिए बनाया जाता है और दूसरा sitemap.html जो हमारे विज़िटर्स के लिए बनाया जाता है. पहले की बात हम कर चुके है और अब sitemap.html के बारेमे बात करते है।

जब कोई बड़ी वेबसाइट पर आप विजिट करते है तो आपकी वेबसाइट के सबसे ऊपर या फिर सबसे निचे sitemap के नामसे एक लिंक दिखाई देता होगा जहापर आपको वेबसाइट के बारेमे सब जानकारी मिलेगी।

यदि आप किसी निश्चित पेज को ढूंढ रहे होंगे तो आपको उसके लिए यह sitemap बोहोत की काम लगेगा। यूज़र आसानी से वेबसाइट के स्ट्रक्चर को समझ पाए इसके कारन ही इसको HTML फॉर्मेट में बनाया जाता है.

यदि आपकी वेबसाइट बोहोत बड़ी है तो आपको अपनी वेबसाइट पर HTML sitemap लगाना जरुरी है इससे आपके यूज़र का एक्सपीरियंस अच्छा रहेगा।

Robot.txt File

इस फाइल के द्वारा हम सर्च इंजिन के क्रॉलर को यह बताते है की हमारी वेबसाइट के किस पेज को क्रॉल करना है और की पेज को नहीं करना है. क्युकी हमारी वेबसाइट पर हमारे कुछ ऐसे पेज होंगे जहाँपर हमारे यूज़र का डेटा मौजूद होगा और डेटा प्राइवसी के चलते हम उन पेज को क्रॉल नहीं करने देंगे।

अब कुछ ऐसे पेज भी होंगे जिन्हे आपको क्रॉल करवाने की जरुरत नहीं है तो आप क्रॉलर की इस फाइल की मदद से जानकारी दे सकते है की उन्हें वो पेज नहीं क्रॉल करने है.

Robot.txt File बनाना Technical SEO के नजरिये से बोहोत जरुरी है.

Webpage Speed/Load Time

किसीभी वेबसाइट के SEO की प्रक्रिया तब तक पूरी नहीं होंगी जब तक आपकी वेबसाइट की पेज स्पीड के बारमे बात ना की जाये। आपकी वेबसाइट की पेज स्पीड जितनी अच्छी होगी उतनी ही यूज़र के लिए बढ़िया होगी। गूगल ने भी वेबसाइट रैंकिंग के फेक्टर में पेज स्पीड को भी ज्यादा महत्त्व दिया है.

वेबसाइट के पेज को रीलोड होने में कम समय लगे तो आपका यूज़र भी आसानी से विजिट कर सकता है यदि आपकी वेबसाइट जल्दी ओपन नहीं होगी तो आपका यूज़र दूसरी वेबसाइट पर चला जायेगा और यह आपके लिए नुकशानदायक साबित हो सकता है.

आपके ब्लॉग या वेबसाइट के पेज स्पीड को कैसे चेक करे? तो उसके लिए आप गूगल का टूल है उसे इस्तेमाल कर सकते है.

Optimization of JS & CSS

कभी कभी आपकी वेबसाइट पर ज्यादा प्लगिन्स या फंक्शन्स का इस्तेमाल करने के कारन हमारी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड बढ़ जाती है और यह न हो उसके लिए आपको अपनी वेबसाइट पर मौजूद JS(JavaScript) और CSS जिसका कोई इस्तेमाल नहीं होता उसे आपको हटा देना चाहिए। इससे आपकी वेबसाइट की स्पीड भी बढ़ जाएगी।

यदि आपकी वेबसाइट वर्डप्रेस पर है तो इसे रिमूव करने के लिए आपको बोहोत सारे प्लगिन्स मिल जायेंगे जिसके इस्तेमाल से आप सारे Unused JS & CSS को निकाल पाएंगे। अगर आपकी वेबसाइट ब्लॉगर पर है तो उसमे आपको manually हटाना पड़ेगा।

SLL Certificate

जब भी कोई वेबसाइट को सर्च रिसल्ट में लाना है तो टेक्निकल SEO करना जरुरी है और उसमे SLL Certificate बोहोत एहम किरदार निभाता है SLL Certificate लगाने से आपकी वेबसाइट का डेटा सिक्योर करता है. जब आप ऑनलाइन किसी भी वेबसाइट को देखते है तो वह सर्च बॉक्स में लेफ्ट साइड पर एक लॉक का आइकॉन दीखता होगा जो SLL Certificate होने का उदहारण है.

अगर आपकी वेबसाइट पर SLL Certificate नहीं होगा तो आपकी वेबसाइट का डेटा खतरे में मन जायेगा इसका मतलब है की आपकी वेबसाइट कोई हैक भी कर सकता है और डेटा चोरी भी हो सकता है.

Canonical tag

यह नाम सुनने में थोड़ी डिफिकल्ट लगता होगा लेकिन इसे वेबसाइट वेबसाइट पर इम्प्लीमेंट करना आसान है और जरुरी भी है इसके लिए आपको ज्यादा मेहनत नहीं करनी है.

जब कोई व्यक्ति ऑनलाइन हमारी वेबसाइट को सर्च करता है तो उसे हमारी वेबसाइट ही मिलनी चाहिए फिर चाहे वो questionbucket.in सर्च करे, https://questionbucket.in टाइप करके सर्च करे या www.questionbucket.in से सर्च करे उसे हमारी ही साइट का मैन डोमेन मिले। इसके लिए ही हम Canonical tag का इस्तेमाल करने वाले है.

Canonical tag कैसे लगे उसकी जानकारी के लिए आप हमारा दूसरा आर्टिकल पढ़ सकते है.

Redirection (404, 301, 302)

आपकी वेबसाइट का कोई पेज ऐसा होगा जो काम नहीं कर रहा होगा और उसपर error दिखा रही होगी तो ऐसी पोस्ट या पेज को दूसरे पेज या वेबसाइट के मैन डोमेन पर भेजना जरुरी है वरना उस पेज पर आने वाले यूज़र्स दूसरे पेज पर चले जायेंगे। इसके लिए आप अपनी वेबसाइट के उस पेज पर Redirection लगाना जरुरी है.

Redirection 404, 301, और 302 का इस्तेमाल करके आपको इस सभी पेज को बदलकर दूसरा पेज जो मौजूद है उसपर भेजना होगा

W3C Validation

W3C एक organization है जो आपकी वेबसाइट के वेब डॉक्यूमेंट को चेक करती है और उसके वेलिडेशन को चेक करती है. W3C का वेलिडेशन हमारी वेबसाइट के लिए बोहोत ही जरुरी है. अगर आपकी वेबसाइट इस वेलिडेशन में फ़ैल हो जाती है तो आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक का ट्रैफिक डाउन हो सकता है और साइट में भी प्रॉब्लम आ सकता है.

जब भी हम Technical SEO के बारेमे बात करते है तो हमारी वेबसाइट के W3C Validation भी जरुरी बन जाता है.

Open Graph Tag

जब भी हम किसी वेबसाइट के आर्टिकल को सोशियल मीडिया या व्हॉट्सएप पर शेयर करते है तो वह एक बॉक्स बनता यही जिसमे फोटो के साथ आर्टिकल का टाइटल और थोड़ी जानकारी दी गई होती है यह सब open graph tag से संभव होता है. इसके लिए आपको कुछ टूल का इस्तेमाल करना है जो आपको मदद करेंगे।

हमारी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के लिए हमे सोशियल मीडिया का इस्तेमाल करना पड़ेगा और उसके लिए open graph tag का प्रयोग करना भी जरुरी है.

Structured Data

वेबसाइट के Structured Data को हम schema markup के नामसे भी जानते है और यह हमारी वेबसाइट पर ऐड करना जरुरी है. इसकी मदद से आपकी वेबसाइट का स्ट्रक्चर सर्च एंजिंग पेज रिसल्ट पर अच्छा दिखेगा। आपकी वेबसाइट किस तरह की है उसकी रिव्यू, केटेगरी यह सभी आपको अच्छे से SERP पर अच्छे से दिखेगी।

आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर schema markup लगाना जरुरी है और यह आपकी वेबसाइट के SEO को इम्प्रोव करेगा।

Conclusion

इस आर्टिकल में हमने Technical SEO क्या है और इसमें क्या क्या होता है उसके बारेमे जाना यदि आपको Technical SEO के बारेमे कोई और कोई प्रश्न है तो आप हमे कमेंट कर सकते है और आप हमे मेल भी कर सकते है. यदि आप ब्लॉग्गिंग, एडसेंस या ऑनलाइन पैसे कैसे कमाने से जुडी जानकारी चाहते है तो हमारे सोसियल पेज को फॉलो करे.

Also Read:

Permalink क्या है? SEO Friendly Permalink कैसे बनाये

Bounce Rate क्या होता है और इसे कैसे कम करें?

ज्यादा जानकारी की लिए आप हमे हमारे मेल आईडी पर कॉन्टेक्ट कर सकते है.

Categories SEO

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.