PageRank Algorithm क्या है?

Advertisements

PageRank Algorithm गूगल की सबसे पुरानी अल्गोरिधम है आज हम देखे तो सर्च इंजिन इतना सिस्टमेटिक हो गया है और यह बोहोत से अलग अलग अल्गोरिधम आ गए है। इन सबमें हमे नही पता की किसको फॉलो करना है और किसको नहीं करना है। तो हम सबको ही फॉलो करते है और उसके मुताबिक वेबसाईट पर SEO करते है।

PageRank Algorithm को गूगल के फाउंडर Larry Page के द्वारा 1998 में इन्वेंट की थी और तभी इसको पेट्रन किया गया था किया गया था। लेकिन इसे कबसे अप्लाई किया गया इसके बारेमें पता नही है यानी की इसका डेटा नहीं है।

साल 2006 में गुगल के एक वर्कर के द्वारा ऐसी जानकारी मिली थी की गूगल ने PageRank Algorithm को अप्लाई करना बंद कर दिया है लेकीन, आज भी बोहोत सारे SEO expert इस बात पर कहते है की यह अल्गोरिधम आज भी काम करता है।

PageRank Algorithm

PageRank Algorithm क्या है?

Lerry page ने जब गूगल को लॉन्च किया तब उन्होंने सोचा की आखिर कोनसा पेज हो जिसे पहले नंबर पर रखना चाहिए और किसे दूसरे पेज पर रखना चाहिए।

एक वेबसाइट जितने ज्यादा एक्सटर्नल रिसोर्स से जुड़ी हुई है या एक वेबसाइट पर जितने Backlink होंगे उनकी ऑथोरिटी उतनी ही बढ़ जाएगी।

इसके परिणाम स्वरूप हुआ ये की जो भी वेबसाईट को चलाते थे वे लिंक स्पेमिंग करने लगे और स्पेन बोहोत बढ़ गया था। इसको खत्म करने के लगे गूगल ने डिक्लेयर किया की वे PageRank Algorithm को फॉलो नहीं करते।

क्या PageRank Algorithm आजभी काम करती हैं?

22 साल पहले जो PageRank Algorithm थी वो अभी काम नहीं करती लेकिन, इसका यह मतलब नहीं है की यह अल्गोरिधम नही है। PageRank Algorithm को गूगल ने मोडिफाई किया गया है और सिर्फ पेज रैंक को ही नही बल्कि अन्य अल्गोरिधम को भी ध्यान में लिया जाता है।

PageRank भी एक SEO fector माना जाता है लेकिन गूगल के द्वारा बोहोत बार बताया गया है की गूगल आपकी वेबसाइट को रैंक करने के लिऐ 200+ फेक्टर को कंसीडर करता है।

Conclusion

PageRank Algorithm आज भी मौजूद है लेकिन उसके क्राइटेरिया चेंज हो गए है और इस अल्गोरिधम को पहले से ज्यादा मोडिफाई किया गया है।

अब पहले जैसा नहीं रहा की जहा पर आप केवल बैकलिंक बनाएंगे और आपकी वेबसाइट गूगल में पहले पेज पर रैंक हो जाएंगी।

अगर हम बैकलिंक की बात करे तो उसमे भी हम स्ट्रॉन्ग बैकलिंक बनाने चाहिए तभी हम इस PageRank Algorithm के साथ अपनी वेबसाइट को टॉप रैंक में रख पाएंगे।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.